26 वर्ष की बेटी ने बड़े कारोबारी से करा दी अपनी ही मां की शादी, हकीकत सामने आने पर सभी रह गए दंग...!

मैट्रिमोनियल साइट पर विज्ञापन देखकर 59 वर्षीय कारोबारी ने 49 वर्षीय औरत से दूसरी शादी रचा ली। कारोबारी की पत्नी की 2010 में मौत हो गई थी। कारोबारी के बच्चे अपने व्यवसाय की कारण से बाहर रहते थे। लिहाजा बच्चे भी चाहते थे कि पिता दूसरी विवाह कर लें, ताकि उन्हें सहारा मिल जाए। कारोबारी के बच्चों ने मैट्रिमोनियल साइट पर विज्ञापन दिया। उधर, स्त्री के बच्चों ने भी। साइट के जरिए दोनों की मुलाकात हुई। दोनों ने 11 नवंबर 2017 को आर्य समाज मंदिर में विवाह कर ली। विवाह के बाद औरत की सच्चाई सामने आई तो सभी दंग रह गए।

जानकारी के मुताबिक, बिहार के गया निवासी नवल किशोर शर्मा का प्लाईवुड का कारोबार और स्कूल भी चलाते हैं। नवल किशोर के बच्चे विवाह शुदा और अपने कारोबार की वजह से बाहर रहते हैं। नवल किशोर के बच्चे चाहते थे, उनके पिता की दूसरी विवाह हो। उनके बच्चों ने मैट्रिमोनियम साइट पर विज्ञापन दिया। उधर, सुनीता गुप्ता के बच्चों ने मां की विवाह का विज्ञापन दिया हुआ था। यहीं से दोनों की मुलाकात हुई। नवल किशोर का कहना है कि उनसे संपर्क किया और स्त्री व उसके परिजन से मुलाकात होने लगीं। नवल किशोर ने बताया कि सुनीता गुप्ता ने बताया कि उनके दो बच्चे शिवम गुप्ता (28 साल) और एश्वर्य गुप्ता (26 साल) है। सुनील और बंटी अग्रवाल भाई बताए थे। इन चारों ने मिलकर सुनीता गुप्ता और नवल किशोर की शादी करा दी। बताया गया है कि स्त्री का बेटा और बेटी ने साइट पर विज्ञापन दिया था।

ऐसे ठगे कारोबारी

नवल किशोर के अनुसार मुलाकात होने के बाद महिला के बच्चों के कहने पर डेढ़ साल में कई बार मनाली, कुल्लू समेत बहुत पिकनिक स्पॉट पर घूमने भी गए। ताकि दोनों के बीच में अधिक पहचान बढ़ सके। शादी से पहले स्त्री व उसके परिजन ने फ्लैट खरीदवाने की बात कही। दरअसल, कारोबारी ग्रेनो वेस्ट में रहते थे। उसके बाद भी विवाह से पहले स्त्री और उसके बच्चों ने दूसरा फ्लैट लेने की बात कही थी। खुद के नाम पर शादी से पहले स्त्री भी फ्लैट खरीदने की जिद पर अड़ गई। कारोबारी ने बताया कि सुनीता ने खुद के नाम पर फ्लैट लेने की बात कहीं थी और विवाह के बाद नवल किशोर के नाम पर पॉवर ऑफ अटॉर्नी बनवा देने का भी वादा किया। उसकी बात मानते हुए 13 सितंबर 2017 में रुपये देकर फ्लैट खरीदवा दिया। उसके बाद दोनों ने शादी की। शादी के बाद सुनीता ने पॉवर आॅफ अटॉर्नी करने सेे इंकार कर दिया। उनपर ही उलटा आरोप लगाने लगी।

ऐसे हुआ पर्दाफाश

विवाह के बाद ही नवल किशोर को पत्नी पर शक होने लगा। वह फ्लैट के दूसरे रुम में दरवाजा बंद करके दूसरे लोगोंं से बात किया करती थी। नवल किशोर की माने तो सुनीता की दूसरे लोगों से बातचीत की रिकार्डिंग मिल गई। वह दूसरे लोगों के संपर्क में थी और विवाह करने की षड्यंत्र रच रही थी। पूरे विषय का पर्दाफाश हो गया। बताया गया है कि ये गिरोह बुजुर्ग को शादी के नाम पर ठगता है। उसके बाद पीड़ित ने विषय की तहरीर पुलिस को दी। आरोप है कि पुलिस ने मामला दर्ज करने से इंकार कर दिया। कोर्ट के आदेश पर सुनिता गुप्ता, उसके बेटे शिवम गुप्ता समेत 5 लोगों पर पुलिस ने विषय दर्ज किया है। कोतवाली प्रभारी मनोज पाठक का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर विषय दर्ज कर जांच की जा रही है।
Loading...