सूरत अग्निकांड की सच्चाई आई सामने, कोचिंग में कुर्सियों के जगह इस चीज पर बैठे थे छात्र...!

सूरत अग्निकांड में 22 छात्रों की मौत हो गई है। जिसकी वजह कोचिंग सेंटर की साज सजावट थी। सूरत की भीषण आग की घटना की प्रारंभिक जांच में स्थानीय नगर परिषद के अधिकारियों और बिल्डरों की ओर से कई तरह की लापरवाही की बात सामने आ रही है।

शहर के तक्षशिला कॉम्पलेक्स में लगी इस आग में एक कोचिंग सेंटर में पढ़ने वाले 22 छात्रों की मौत हो गयी थी। जांच में पाया गया है कि कोचिंग क्लास की बनावट भी आग जैसी घटनाओं के लिहाज से संवेदनशील थी। इसमें छत बहुत नीचे थी और कुर्सियों की जगह बैठने के लिए टायरों का उपयोग किया जा रहा था।

प्रारंभिक जांच में पर्दाफाश हुआ है कि बिल्डर ने तीन मंजिला कॉम्पलेक्स बनाने की अनुमति ली थी किन्तु चार मंजिला इमारत बनाया गया। जो पूरी तरह अवैध है। एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक संबंधित अधिकारी ने बिल्डर के प्रस्ताव को मंजूरी देते समय खुद बिल्डिंग का दौरा नहीं किया था।

सूरत आग विषय में कोचिंग सेंटर के मालिक सहित 3 लोगों के विरूद्ध FIR दर्ज की गई है और कोचिंग सेंटर के संचालक को गिरफ्तार कर लिया गया है।
Loading...