फीस बढ़ाने पर नोएडा के इन 17 स्कूलों पर लगाए गए एक लाख तक फाइन, ये हैं स्कूल..!

नोएडा प्रशासन ने पेरेंट्स से अधिक फीस वसूलने के विषय में 17 प्राइवेट स्कूलों पर 8.30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी थी। गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) जिला प्रशासन ने एक बयान में कहा है कि एक लाख रुपये का सबसे अधिक जुर्माना नोएडा के जागरण पब्लिक स्कूल पर लगाया गया है। ये हैं बाकी स्कूल।

इन आठ स्कूलों पर 75,000 रुपये जुर्माना

loading...
सीएलएम पब्ल‍िक स्कूल

गगल पब्लिक स्कूल

ग्रेटर हाइट्स पब्ल‍िक स्कूल

धर्म पब्ल‍िक स्कूल

ग्रैड्स इंटरनेशनल स्कूल

श्री रविशंकर विद्या मंदिर

कार्ल ह्यूबर

एसडी पब्लिक स्कूल इन भंगेल

प्रशासन ने अपने बयान में कहा है कि सभी 17 स्कूलों पर कुल 8.30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया था। ये जुर्माना डिस्ट्रिक्ट फीस रेगुलेटरी समिति के एक फैसले के बाद लगाया गया है। यह कमेटी उत्तर प्रदेश फीस रेगुलेशन एक्ट फॉर सेल्फ फाइनेंश्ड स्कूल्स 2018 के प्रावधानों के तहत बनाई गई है।

इन स्कूलों की जुर्माना रा‍शि भी जानें


नोएडा के विश्व भारती पब्लिक स्कूल को 50,000 रुपये का जुर्माना देने के लिए कहा गया है। वहीं रामगया पब्लिक स्कूल को 20,000 रुपये जुर्माना देना है। इसके अलावा छह स्कूलों रॉकवुड, जीडी गोयनका, मॉडर्न पब्लिक स्कूल, एसेंट इंटरनेशनल, एपीजे इंटरनेशनल और रेयान इंटरनेशनल पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया था।

बता दें कि तमाम अभिभावकों की ओर से निजी स्कूलों में जबरन फीस वसूली की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने सितंबर 2018 में सभी जिलों से ऐसे मामलों का संज्ञान लेने के लिए एक फीस नियामक समिति गठित करने को कहा था। इसी समिति ने ये फैसला लिया है।