पहली पत्नी हत्या, लाश बेड में छिपाकर उसी पर 2 दिन तक सोता रहा हत्यारा..!

मेरठ के गंगानगर के पनाश अपार्टमेंट के एक फ्लैट से मंगलवार को महिला की लाश बरामद होने से सनसनी फैल गई। अवैध संबंधों के शक में युवक ने पत्नी की हत्या कर दि। लगभग पांच दिन पहले हत्या किया गया और लाश को आरोपी ने बेड में छिपा दिया। इस बेड पर आरोपी दो दिन तक सोया। उसने लाश को ठिकाने लगाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी तो फ्लैट को बंद कर फरार हो गया। फ्लैट से दुर्गंध उठी तो आसपास के लोगों ने पुलिस को बुलाया। दरवाजा तोड़ा तो बेडरूम में कंबल में लिपटी हुई महिला की लाश बरामद हुई। पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। पनाश अपार्टमेंट की चौथी मंजिल पर डिफेंस कॉलोनी निवासी मानवेंद्र सिवाच का बी-403 फ्लैट है। पिछले एक साल से फ्लैट में किला परीक्षितगढ़ के शिवपुरी गांव निवासी जसवीर सिंह भाटी, पत्नी पूजा भाटी के साथ किराए पर रह रहा था। जसवीर कचहरी में वकील के पास मुंशी है। 25 मई को जसवीर फ्लैट का ताला लगाकर भाग निकला। दो दिन से फ्लैट से दुर्गंध आ रही थी। सोमवार सुबह लगभग साढ़े नौ बजे इंचौली निवासी स्वीपर सुशील फ्लैट के बाहर कूड़ा उठाने पहुंचा तो दुर्गंध की जानकारी आसपास के लोगों को दी। पुलिस को बताया गया कि फ्लैट में कोई घटना हुई है।

loading...
सुबह 11 बजे सीओ सदर देहात अखिलेश भदौरिया और एसओ रवि चन्द्रवाल मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम को बुलाकर फ्लैट का ताला तोड़ा गया। पुलिस अंदर पहुंची तो यहां का नजारा देख सभी के रौंगटे खड़े हो गए। कंबल में लिपटी हुई महिला की लाश पड़ी हुई थी। महिला की पहचान पूजा भाटी के रूप में हुई। लाश पूरी तरह से सड़ चुकी थी। सिर पर किसी भारी चीज से वार कर हत्या की गई थी।  ऐसा लग रहा था, जैसे पांच दिन पहले हत्या की गई हो। पुलिस को बेडरूम में रखा बेड भी खाली मिला, जिसका सामान अंदर वाले कमरे में बांधकर रखा हुआ था। इस लाश को हत्यारे ने इसी बेड में छिपाया था। लाश को ठिकाने लगाने की प्लानिंग थी, किन्तु बात नहीं बनी तो आरोपी लाश को फ्लैट में छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने शाम को आरोपी जसवीर को दबोच लिया। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि अवैध संबंधों के शक में हत्या की है।

पुलिस को गुमराह करता रहा जसवीर

फ्लैट पर ताला लगा देख पुलिस ने सबसे पहले सोसाइटी के लोगों से नंबर लेकर जसवीर को फोन किया। जसवीर ने एसओ रवि चन्द्रवाल से कहा कि वह घर आ रहा है। लगभग तीन घंटे बाद जब जसवीर नहीं पहुंचा तो पुलिस ने फ्लैट का ताला तोड़ दिया। जसवीर पुलिस को अपनी अलग-अलग स्थान की लोकेशन बताकर गुमराह करता रहा।

लगभग पांच दिन पहले की थी हत्या

पुलिस ने जब फ्लैट का ताला तोड़कर गेट खोला तो अंदर का मंजर खौफनाक था। पूरे घर में दुर्गंध उठ रही थी और मक्खियां ही मक्खियां थी। कमरे के अंदर शव कंबल में गठरी की तरह बंधा हुआ था। लाश फूलकर गल चुकी थी। स्वीपर सुशील के अनुसार उसने 20 मई को आखिरी बार पूजा को देखा था, जब वह कूड़ा देने घर से बाहर आई थी। इसके बाद से जसवीर ही कूड़ा दे रहा था। इस बात से अनुमान लगाया जा रहा है कि पूजा की हत्या लगभग एक हफ्ता पहले की गई।

परिवार से अलग रहता था जसबीर

किला परीक्षितगढ़ के शिवपुरी निवासी जसबीर पुत्र घनश्याम पिछले दस साल से अपने परिवार से अलग रह रहा था। उसके दो भाई गुलबीर और मनबीर हैं। जसबीर ने लोनी निवासी पूजा भाटी से लगभग पांच साल पहले शादी की थी। इसके बाद दोनों दिल्ली में रह रहे थे। लगभग एक वर्ष पहले दोनों दोबारा मेरठ आए। 

Loading...