मामूली केला कर सकता है आपकी इन 6 बिमारियों को समाप्त, जानिए कैसे...?

डॉक्टर के मुताबिक़ हरी सब्जियां और फल इंसान के स्वास्थ के लिए बहुत आवश्यक होती हैं। इंसान के शरीर के लिए जो पौष्टिक तत्व की आवश्यकता होती है,  वह इन्ही सब फल और सब्जियों में होते हैं।  इन्हीं सब फलों में से केला भी एक ऐसा फल है जो बाजार में पूरे 12 महीने उपलब्ध रहता है। केला और उसका बनाया गया जूस तो ना ही अच्छी सेहत के लिए बहुत आवश्यक है।  केले को खाने से ना केवल शारीरिक विकास होता है बल्कि बौद्धिक विकास भी होता है। जो लोग स्पोर्ट्स खेलते हैं उन्हें रिफ्रेशमेंट पर तौर पर केला खिलाया जाता है। इसका एक मात्र कारण यह है कि अकेला उत्साह वर्धन मतलब की ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि केले में शर्करा, पोटेशियम, कैल्शियम, सोडियम, फास्फोरस, प्रोटीन जैसे कई खनिज तत्व मौजूद होते हैं। इसके साथ ही अकेला कई बीमारियों को दूर करने की ताकत भी रखता है। चलिए जानते हैं केले के कुछ अनोखे लाभ जो शायद आपको पहले मालूम नहीं होंगे।
Loading...
जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी रहती है उनके लिए अकेला बहुत फायदेमन्द सिद्ध हो सकता है।  केले में पोटेशियम की काफी हाई मात्रा रहती है जिसके कारण ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है। इसलिए यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बनी रहती है तो मामूली केले खाने से आप एकदम ठीक हो सकते हैं। जो लड़के अच्छी बॉडी और सिक्स पैक बनाना चाहते हैं,  उनके लिए अकेला बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

जो लोग जिम ज्वाइन करते हैं उनका जिम एक्सपोर्ट भी होने केला खाने की सलाह जरूर देता है। यदि प्रत्येक रोज सुबह 23 के लिए आप एक गिलास गर्म दूध के साथ खाएंगे,  तो इससे ना केवल आपकी कमजोरी दूर होगी बल्कि आपकी अच्छी बॉडी का निर्माण भी होगा। इसलिए केले को मामूली समझकर इग्नोर करने की ना सोचे। जिन लोगों के अंदर पानी की कमी हो जाती है या फिर जिन्हें लगातार दस्त की समस्या बनी रहती है,  उनके लिए केले बेहद प्रभावशाली सिद्ध हो सकते हैं। इसके लिए आपको प्रत्येक दिन दही में केले को मिलाकर खाना होगा। इससे ना केवल आप के दस्त बल्कि पेचिश जैसे खतरनाक रोग भी आपसे कोसों दूर भाग जाएंगे।

कुछ लोगों को पितरों की समस्या बनी रहती है। ऐसे में वह हर प्रकार की अंग्रेजी दवाइयों का सेवन करते हैं परंतु उन्हें कोई  आराम नहीं मिल पाता। यदि आयुर्वेद की माने तो पके हुए केले को घी के साथ खाने से आपका पित्त रोग हमेशा के लिए गायब हो जाएगा। बहुत सारे बच्चे मिट्टी, सलेटी एवं चाक खाते हैं। इसका कारण शरीर के अंदर कैल्शियम की कमी होना है। और जैसा कि हम सभी जानते हैं केले में कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में रहता है। इसलिए इससे आपकी कैल्शियम की कमी दूर हो जाएगी और आप मिट्टी खाना बंद कर देंगे। इसके लिए बच्चों को केला शहद में मिलाकर खिलाना चाहिए। बहुत सारे बच्चे खेल कूद में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि उन्हें भूख नहीं लगती।  ऐसे में मामूली केला आपकी भूख बढ़ाने के काम आ सकता है। यदि रोजाना आप खाना खाने के बाद एक से दो पके हुए केले खाएंगे तो आपकी भूख बढ़ेगी और खाना भी जल्दी हजम होगा।
Loading...