आज हैं बॉलीवुड की जानी-मानी सिंगर, एक वक्त था जब पिता बेचते थे स्कूल के बाहर समोसे..!

बॉलीवुड की  मशहूर सिंगर नेहा कक्कड़ एक बेहतरीन सिंगर ही नहीं बल्कि युवाओं के दिलों में राज करने वाली एक स्टाइलिश डीवा हैं। बता दें कि नेहा कक्कड़ अपने गानों से लोगों के दिलों में स्थान बनाने में इस हद तक सफल हुई हैं कि आज उनके फैन लाखों की संख्या में पूरे देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं। इन दिनों नेहा कक्कड़ का कोई भी गाना बॉक्स ऑफिस पर आता है और हिट हो जाता है। ऐसे में उनको हिट मशीन कहना गलत नहीं होगा।

loading...
नेहा कक्कड़ ने अपने सिंगिंग के बल पर आज इस इंडस्ट्री में अपना एक नया मुकाम बनाया है। अपने गानों के साथ सेल्फी क्वीन के नाम से मशहूर हुई नेहा कक्कड़ ने अपनी सिगिंग के साथ अपनी स्माइल से भी लोगों का दिल जीता है। बता दें कि नेहा वैसे तो बहुत हसमुख स्वभाव की हैं, किन्तु कई बार आपने उन्हें स्टेज पर रोते हुए भी देखा होगा। हाल ही में नेहा कक्कड़ अपने ब्रेकअप को लेकर भी काफी खबरों में रही थीं। हालांकि अब वो इससे बाहर निकल गई हैं।

बता दें कि नेहा अब एक मशहूर सिंगर हैं। अब वो एक लग्जयूरियल लाइफ जी रही हैं। किन्तु शायद ही बहुत कम लोगों को पता हो कि नेहा एक बेहद ही साधारण से परिवार से सम्बन्ध रखती थीं। उनके पिता उनके स्कूल के बाहर समोसे की दुकान लगाते थे। अपने बचपन का ये किस्सा शेयर करते हुए नेहा एक बार रोने लगी थी। और उन्होंने अपने बचपन की बातें बताई थीं। तो चलिए आपको बताते हैं कि क्या है वो किस्सा…बता दें कि नेहा कक्कड़ ने अपने सिंगिंग करियर की शुरूआत सिगिंग रिएलिटी शो सा रे गा मा पा से की थी, हालांकि नेहा इसकी विनर नहीं बन पाई थी।

किन्तु उनकी सिंगिग लोगों को बहुत पसंद आई थी। जिसके बाद सिंगिग में ही नेहा ने अपना करियर बनाया और अब वो कई रिएलिटी शोज में बतौर जज नजर आती हैं। बता दें कि जी टीवी के सिंगिंग रिएलिटी शो सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स सीदन 6 में नेहा बतौर जज नजर आई थीं। जिसमें उन्होंने अपने बचपन को याद करते हुए एक किस्सा शेयर किया था।

नेहा ने कहा था- ‘आज जब मैं बच्चों को रियलिटी शो का हिस्सा बनते हुए देखती हूं, तो मुझे अपना संघर्ष याद आता है। पहले पिता जी हमें अच्छा जीवन देने के लिए बहुत मेहनत करते थे। मैं आज भी उन दिनों को नहीं भूल सकती जब मेरे पिता सोनू दीदी (नेहा कक्कड़ की बहन सोनू कक्कड़) के स्कूल के बाहर समोसे बेचा करते थे। कॉलेज के बच्चे मेरी बहन पर तंज कसते थे।’ इसके बाद नेहा ने कहा था- ‘बाद में मैं दिल्ली रहने के लिए आई। सोनू दीदी और मेरा भाई जागरण में गाना गाया करते थे। मैंने चार साल की उम्र से ही गाना शुरू कर दिया था। उस वक्त कोई समय सीमा नहीं हुआ करती थी, जिसके कारण सुबह तक गाना पड़ता था। कुछ लोग हमारे कोशिशों की कभी प्रशंसा नहीं करते हैं। कई घंटों तक गाना गाने का अर्थ था कि मैं दूसरे दिन सुबह स्कूल नहीं जा पाती थी। मेरे लाइफ में यू-टर्न तब आया जब मैंने एक सिंगिंग रिएलिटी शो में भाग लिया।’ बता दें कि अब नेहा कक्कड़, उनकी बहन सोनू कक्कड़ और भाई टोनी कक्कड़ तीनों ही बॉलीवुड के जाने-माने सिंगर हैं।