सांप काटने पर तुंरत अपने ये घरेलू नुस्ख़ा,अवश्य जाने बच सकती है जिदंगी...!

सांप का नाम आते ही हम थर-थर कांपने लगते हैं। कांपे भी क्यों न, सांप काटने से लोंगो की मौत जो हो जाती है। पुराने जमाने में ऐसे अधिक्तर केस देखने को मिलते थे कि जिस सांप काट लें, उसका मरना तय होता था। यही वजह है कि लोग आज भी सांप को देखकर थर थर कांपने लगते हैं। सांप बहुत ही अधिक जहरीला होता है, उसका विष बॉडी में जाते ही इंसान मरने लगता है। आज हम आपको इसके कुछ घरेलू उपाय बताएंगे, जिससे सांप काटे इंसान की लाइफ बच सकती है।

loading...
हिंदू धर्म में सांप को देवता का दर्जा दिया गया है। यही वजह है कि नागपंचमी के दिन इनकी पूजा भी की जाती है। किन्तु इस बात से भी नहीं नकारा जा सकता है कि सांप या नाग धरती पर सबसे विषैले जंतुओं में से एक है, जिसके काटने पर पीड़ित व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। पुराने जमाने में साँप के काटने से अधिक्तर लोग बिना सही इपचार के ही मर जाते थे, ऐसे में आज यह समस्या कम हो चुकी है, क्योंकि लोग सांप काटने के बाद पैनिक नहीं होते हैं, बल्कि डॉक्टर के पास जाते हैं।

माना जाता है कि सांप का जहर दिल और मस्तिष्क तक पहुँचने या पूरे शरीर तक फैलने में क़रीब तीन से चार घंटे का समय लेता है, उसके बाद धीरे-धीरे विष का प्रभाव पूरे शरीर में होने लगता है, ऐसे में इस समय आपको दिमाग से काम लेना चाहिए। सांप कांटे व्यक्ति को डॉक्टर के पास ले जाने के बीच में आपको कुछ घरेलू उपाय भी करते रहना चाहिए, ताकि उपचार चलता रहे। ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिनसे आप पीड़ित की सहायता कर सकते हैंं।

सांप काटने पर घरेलू नुस्ख़ा


यदि आपके जान पहचान में किसी शख्स को सांप काट लें तो आपको इन उपायों को आजमाना चाहिए, किन्तु डॉक्टर के पास ले जाना बिल्कुल न भूलें। तो चलिए जानते हैं कि क्या-क्या उपाय हैं ?

1. लहसुन तो हर घऱ में आसानी से मिल जाता है, उसको पीसकर पेस्ट बना लें। इसके बाद जहां सांप ने काटा है, उस स्थान पर लगायें या फिर लहसुन के पेस्ट में शहद मिलाकर खिलाने या चटवाने से इन्फेक्शन कम हो जाता है, ऐसे में पीड़ित का दर्द कम हो जाता और आपको डॉक्टर के पास ले जाने में भी आसानी होगी।

2. सबसे से पहले पीड़ित को घी खिलाकर उल्टी करवाने की प्रयास करें, ऐसे में यदि उल्टी न हो तो दस-पंद्रह के बाद गुनगुना पानी पिलाकर उल्टी करवायें। ऐसा करने से विष का प्रभाव कम हो जाता है।

3. नयी सुई की सिरिंज की निब को काटकर सांप कटे स्थान पर लगाना चाहिए। ऐसा करने के लिए आपको किसी डॉक्टर की सहायता लेना चाहिए, ताकि वो अच्छे से सुई लगा सके। सूई लगाने से जहर बाहर आ जाता है।