ईद स्पेशल: देखिए पुरे देश की सबसे खूबसूरत मस्जिदें, लाखों की संख्या में लोग पढ़ते हैं नमाज..!

मई महीने से शुरू हुए रोजे का एक महीने का समय पूरा होने वाला है। बता दें कि मुस्लिम समुदाय के रोजे एक महीने पूरे करने के बाद आता है ईद का पर्व। और इस बार ईद 5 जून को पड़ रहा है। बता दें कि हिंदुओं में तो आए दिन कोई ना कोई छोटे-बड़े पर्व मनाए जाते हैं। किन्तु वहीं बात करें मुस्लिम धर्म की तो इसमें बहुत ही कम त्यौहार मनाए जाते हैं। और इन्हीं मे से एक विशेष पर्व है ईद। पूरे महीने रोजा रहने के बाद ईद वाले दिन हर कोई जश्न के त्यौहार के जश्न में डूबने वाला है।

loading...
लोग इस दिन नए-नए कपड़े पहनते हैं। घरों को सजाते हैं। घरों में पकवान बनाते हैं। बता दें कि इस दिन लोग मस्जिद में जाकर नमाज अदा करते हैं और फिर अल्लाह की इबादत करते हैं। और फिर लोगों से गले मिलकर अपनी-अपनी खुशी साझा करते हैं और ईद की मुबारकबाद देते हैं। आज हम आपको बताएंगे पुरे देश की उन खूबसूरत मस्जिदों के बारे में जहां पर लाखों लोग एक साथ बैठकर नमाज अदा कर सकते हैं। साथ ही उन मस्जिदों की खूबसूरती देखते ही बनती हैं।

नूर अस्थाना मस्जिद (कजाकिस्तान)


सेंट्रल एशिया की सबसे बड़ी मस्जिद है कजाकिस्तान की नूर अस्थाना मस्जिद। बता दें कि इस मस्जिद का निर्माण साल 2008 में हुआ था। और इसको बनाने में सबसे अधिक प्रयोग कांच का किया गया था। जो इस मस्जिद की खूबसूरती को और बढ़ा देता है और उसमें चार चांद लगा देता है।

शेख जैयद ग्रैंड मस्जिद (आबु धाबी)


आबु धाबी में बनाई गई इस मस्जिद को बनाने में 11 साल का समय लगा था। बता दें कि शेख जैयद आबू धाबी (यूएई) की सबसे बड़ी मस्जिद है। इस मस्जिद की सबसे अधिक बात है इस मस्जिद में बनें गुंबद। मस्जिद में कुल 82 गुबंद हैं जो इस मस्जिद की खूबसूरती में चार चांद लगा देती है। इस मस्जिद को बनाने में कुल 600 मिलियन डॉलर खर्च किए गए थे। इस मस्जिद का निर्माण साल 2007 में किया गया था।

सुल्तान अहमद मस्जिद (इस्तानबुल)


यह मस्जिद सबसे पुरानी मस्जिदों में से एक हैं। बता दें कि इस मस्जिद का निर्माण साल 1609 में किया गया था। इस मस्जिद की खास बात यह है कि इस मस्जिद का इतिहास बहुत पुराना है। इस मस्जिद के गुंबद में नीले रंग के टाइल्स लगे हुए हैं। जिस वजह से इसे ब्लू मस्जिद कहा जाता है।

बादशाही मस्जिद (लाहौर)


पाकिस्तान के लाहौर में स्थित इस मस्जिद का निर्माण वर्ष 1673 में मुगल सम्राट औरंगजेब ने करवाया था। इस मस्जिद की सुंदरता मुगल काल के सौंदर्य और भव्यता का प्रतीक है। कहा जाता है कि यह दूसरी सबसे बड़ी मस्जिद है और यहां लोग बहुत बड़ी संख्या में लोग नमाज पढ़ने आते है। बता दें कि इस मस्जिद में 55000 लोग एक साथ नमाज अदा कर सकते हैं।

मस्जिद-ए-नबवी (सऊदी अरब)


सऊदी अरब के शहर मदीना में बसी इस मस्जिद को विश्व की सबसे खूबसूरत मस्जिदों में से एक कहा गया है। बता दें कि खूबसूरत होने के साथ-साथ यह मस्जिद बहुत बड़ी भी है। क्योंकि इस मस्जिद में लगभग 1000000 लोग एक साथ नमाज पढ़ सकते हैं।