मिलिए उस संत से जिनकी दुआओं से बादल भी बदल देते हैं अपना रास्ता, अवश्य देखें..!

गुप्ता परिवार के बेटों की शादी में इकु बुदि सुमंत्री इंडोनेसिया से आये हैं। इनके ऊपर मौसम को नियंत्रित करने का जिम्मा है। संत का दावा है कि वे बेकार मौसम को अपनी प्रार्थना से काफी हद तक नियंत्रित कर लेते हैं. बात काफी अजीब है ना। दरअसल इकु बुदि से 2006 में समित गर्ग ( समित गर्ग ने ही पूरे विवाह समारोह में साज सज्जा की व्यवस्था की है) की मुलाकात बाली में एक भारतीय उद्योगपति की बेटी की विवाह के वक़्त हुई थी। बता दें कि पवन हुजान संतों का समुदाय है जो पवन हुजान की पूजा करते हैं। उसी धर्म के एक संत को इस गुप्ता परिवार के बेटों की शादी में बुलाया गया है। ये संत weather बेकार होने से रोकने का दावा करते हैं।

अच्छे weather के लिए प्रार्थना


loading...
समित ने बताया कि उन्होंने उनका प्रभाव अपनी आंखों से देखा है। ये संत अच्छे weather के लिए प्रार्थना करते हैं। अब इसी विवाह की बात लीजिये। 18 जून से 22 जून तक औली में विवाह समारोह आयोजित किया गया। 18 और 19 को औली में शादी समारोह स्थल पर बारिश हुई। किन्तु विवाह के दिन 20 और 22 जून को मौसम बिल्कुल खुल गया।

पुरखों से मिली ये विद्या


संत इकु बुदि ने कहा कि अच्छे मौसम की कामना करने की ये विद्या उन्हें अपने पुरखों से मिली है। अपने परिवार में वे तीसरी पीढ़ी के शख्श हैं जो ये काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे इस काम के लिए दुनिया के कई देशों में जा चुके हैं। हैरत की बात तो ये है कि वे दावा करते हैं कि उनकी प्रार्थना का रिजल्ट 90 प्रतिशत सफल रहता है।

जबकि औली के मौसम के बारे में उन्होंने एक दुविधा ये बताई की बादलों के आवागमन को वे ठीक ढंग से देख नहीं पा रहे हैं, क्योंकि, हिमालय की चोटियों के पीछे से किसी भी दिशा से बादल आ धमकते हैं। ये संत गुप्ता परिवार के यहां होने वाली विवाह समारोह में दूसरी बार आए हैं।