विश्व की सबसे खतरनाक जेलें, जहाँ पर गलती से भी नहीं जाना चाहोगे आप..!

जेल का नाम सुनते ही हमारे पसीने छूटने लगते है क्योकि जेल ऐसी जगह होती है। जहां कोई भी नहीं जाना चाहता। लेकिन जब इंसान अपराध करता है और वो अपराध साबित हो जाता है तो उसे जेल में दाल दिया जाता है। उसे उसके अपराध की सजा देने के लिए। दोस्तों जेल वो जगह होती है जहां आपकी आज़ादी खत्म हो जाती है और सजा शुरू हो जाती है। आज मैं आपको ऐसे जेलों के बारे में बताने वाला हु जहां इंसान जीते हुए ही नहीं मरने के बाद भी नहीं जाना चाहेगा।

loading...
पेटक आइसलैंड जेल - दोस्तों रूस की जेलों के बारे में कहा जाता है कि वो बिलकुल भी सुरक्षित नहीं होती हैं। रूस के वाइट रिवर पर उपस्थित Petak Island जेल में रूस के सबसे कुख्यात कैदियों को कैद किया जाता है। जेल में उपस्थित प्रत्येक कैदी को करीब 20 घंटे अकेले एक सेल के अंदर बिताने होते हैं। जबकि उन कैदियों वर्ष में केवल एक बार ही उन कैदियों से मिलने हैं।

गीतारामा सेंट्रल जेल - दोस्तों रवांडा की इस जेल को संसार की सबसे खतरनाक जेल माना जाता है। दोस्तों जेल में कैदियों की क्षमता 500 है। जबकि इस जेल में 6 हजार से अधिक कैदी बंद हैं। जबकि 12 गुना अधिक कैदी इस जेल में बंद है। इस जेल में कैदियों को सुरक्षाकर्मियों द्वारा तो नहीं मारा जाता है। किन्तु कहा जाता है की यहाँ के कैदी दूसरे कैदियों को मारकर खा जाते हैं। जबकि अभी तक इसके कोई सबूत नहीं मिले है।

सैन क्वेंटिन स्टेट - अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित सैन क्वेंटिन स्टेट जेल को 1852 में बनाया गया था। इस जेल में कैदी को एक पिंजरे जैसे सेल में रखा जाता है। इस जेल में रूल्स की कोई वैल्यू नहीं है। इस जेल में मौत की सजा के तरीके कभी भी बदल दिए जाते हैं। मौत की सजा देने के लिए इस जेल में फांसी , गैस चैम्बर या लेथल इंजेक्शन दिया जाता है। इस जेल में बेकार सुविधाओं के साथ हिंसा के बहुत विषय सामने आए दिन देखने को मिलते रहते हैं। और इसी कारण से ह्यूमन राइट्स वालो ने कई बार इसके लिए आवाज़ भी उठाई है।