इंस्पेक्टर बन गया सांसद, किन्तु DSP को देखते ही किया सैल्यूट...!

आंध्रप्रदेश के निवासी गोरंता माधव ने इस वर्ष लोकसभा का चुनाव लड़ा था और ये आंध्रप्रदेश की हिंदू पुर लोकसभा सीट से सांसद बन गए हैं। वहीं हाल ही में सांसद गोरंता माधव की एक तस्वीर बहुत वायरल हो रही है और इस तस्वीर में ये सैल्यूट मारते हुए नजर आ रहे हैं। दरअसल चुनाव लड़ने से पहले ये एक इंस्पेक्ट हुआ करते थे और सांसद बनने के बाद जब इन्होंने अपने अधिकारी को देखा तो इनसे रुका नहीं गया और इन्होंने अधिकारी को सैल्यूट कर दिया।

पुलिस अधिकारी ने भी किया सैल्यूट


loading...
सांसद गोरंता माधव ने अपने जिस पूर्व अधिकारी को सैल्यूट मारा, उन्होंने भी वापस से गोरंता माधव को सैल्यूट किया और इस दौरान एक व्यक्ति ने इनकी फोटो खींच ली और अब ये फोटो लोगों द्वारा बहुत पसंद की जा रही है। बताया जा रहा है कि ये तस्वीर उस समय खींची गई है जब पोलिंग सेंटर पर वोटों की गनती चल रही थी। वोटों की गिनती के दौरान पोलिंग सेंटर पर गोरंता माधव उपस्थित थे और उसी दौरान वहां पर सीआईडी डीएसपी मेहबूब बाशा आ गए। अपने पूर्व अधिकारी को देख माधव ने तुरंत उन्हें सैल्यूट मार दिया। जवाब में डीएसपी मेहबूब बाशा ने भी माधव को सैल्यूट किया। एक दूसरे को सैल्यूट मारने के बाद ये दोनों हंसने लगे।

सैल्यूट मारने के बाद माधव ने मीडिया को बताया कि वो सीआईडी डीएसपी मेहबूब बाशा के बहुत बड़े प्रशंसक हैं और वो उनका बहुत सम्मान करते हैं। इसलिए उन्होंने जैसे ही सीआईडी डीएसपी मेहबूब बाशा को देखा तो उन्हें सैल्यूट मार दिया। आपको बात दें कि चुनाव लड़ने से पूर्व गोरंता माधव अनंतपुर डिस्ट्रिक्ट में पूर्व सर्कल इंस्पेक्टर रहे हैं और इन्होंने  सीआईडी डीएसपी मेहबूब बाशा के साथ काम किया हुआ है। जिसके कारण ये इनका सम्मान करते हैं। वहीं अपनी नौकरी को छोड़कर गोरंता माधव ने वाईएसआर कांग्रेस को ज्वाइन कर लिया था और इस पार्टी की और से इन्होंने लोकसभा का चुनाव लड़ा।

इस कारण लड़ा चुनाव


अपनी पुलिस की नौकरी को छोड़कर चुनाव लड़ने का निर्णय लेने के पीछे माधव ने बहुत बड़ी वजह बताई है। माधव के मुताबिक़ एक बार  टीडीपी लीडर और अनंतपुर के पूर्व सांसद जेसी दिवाकर रेड्डी ने हमारे देश की पुलिस पर विवादित बयान दिया था। जो कि माधव को पसंद नहीं आया। जेसी दिवाकर रेड्डी के इस बयान से दुखी होकर माधव ने राजनीति में आने के फैसला किया और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी में वो शामिल हो गए। माधव ने बताया कि वो वाईएसआर कांग्रेस के नेताओं से मिले और नेताओं से मिलने के बाद इन्हें हिंदूपुर लोकसभा सीट से टिकट दी गई। जिसके बाद माधव ने टीडीपी सांसद क्रिस्तप्पा निम्माला के विरुद्ध लोकसभा का चुनाव लड़ा और इस चुनाव को माधव ने आसानी से जीत लिया।लोकसभा चुनाव के अलावा इस राज्य में विधानसभा चुनाव भी हुए थे और विधानसभा चुनाव में भी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की और से बहुत अच्छा प्रदर्शन किया गया है और इस पार्टी ने तेलगु देशम पार्टी को इस राज्य की सत्ता से हटा दिया है।