मरीज की मौत के बाद ग्रामीणो को क्लिनिक के कर्मियों ने दौड़ा-दौड़ा कर मारा, डेढ़ महीने में ही उजड़ गया अनुराधा की संसार..!

गोपालगंज जिले के थावे रोड स्थित निजी क्लिनिक पर मरीज की मौत के बाद डॉक्टर और कर्मियों ने परिजनों के साथ मारपीट की। मारपीट में विदेशी टोला निवासी हरिओम प्रसाद का सिर फूट गया। इससे आक्रोशित परिजनों ने गोपालगंज-सीवान एनएच-85 को जाम कर आरोपित डॉक्टर और कर्मियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे।

loading...
तकरीबन पांच घंटे तक हंगामे के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। लोगों के आक्रोश को देखते हुए डॉक्टर के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। परिजनों का आरोप है कि बेहोशी का इंजेक्शन देने के बाद मरीज की स्थिति एकाएक बिगड़ गयी। डॉक्टर को बुलाने पर कर्मियों को इंजेक्शन देने के लिए भेजा गया, जिससे मरीज की मौत हो गयी।

घटना के रिश्ता में क्लिनिक के डॉ अरविंद कुमार शर्मा का कहना था कि हर्ट अटैक से मरीज की मौत हुई है।डॉक्टर ने ग्रसित परिवार को हरसंभव मदद करने का आश्वासन देते हुए मुआवजा देने की बात कही है। वहीं, परिजनों ने विषय में जांच करने पहुंची पुलिस से कार्रवाई की मांग की है।

पांच घंटे तक होता रहा बवाल और प्रदर्शन, स्त्रियों ने की रोड़ेबाजी


परिजनों की पिटाई किये जाने की सूचना मिलने पर विदेशी टोला से बड़ी संख्या में लोग डॉक्टर के निजी क्लिनिक पर पहुंचे। इनमें अधिकतर स्त्रियां थीं। महिलाओं ने क्लिनिक पर रोड़ेबाजी की। स्त्रियों का आरोप था कि परिवार के सदस्यों की संख्या कम थी, इसलिए डॉक्टर और उनके कर्मियों ने पिटाई कर दी। गांव से जब लोग पहुंचे, तो सभी क्लिनिक छोड़ कर फरार हो गये। इससे आक्रोशित होकर क्लिनिक में तोड़फोड़ करने के बाद पुलिस की मौजूदगी में पथराव किया गया। लगभग पांच घंटे तक बवाल और प्रदर्शन होता रहा। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

डेढ़ माह पहले हुई थी दीपू की विवाह

मृत युवक दीपू की विवाह डेढ़ माह पहले फुलवरिया थाना क्षेत्र के छोटका साखे गांव की अनुराधा कुमारी के साथ हुई थी। शुक्रवार की सुबह क्लिनिक में ऑपरेशन के बाद पति की मौत की खबर सुन कर वह बेहोश हो गयी। पीड़ित पत्नी को परिवार की स्त्रियां ढांढ़स दे रही थीं। नयी दुनिया में कदम रखा ही था कि पति की मौत की समाचार मिल गयी। समाचार मिलते ही नयी नवेली दुल्हन की संसार उजड़ गयी।

अपेंडिक्स के ऑपरेशन के लिए क्लिनिक में भर्ती हुआ था दीपू


बताया जाता है कि थावे थाना क्षेत्र के विदेशी टोला गांव के प्रभु प्रसाद की पत्नी प्रभावती देवी अपने बड़े पुत्र दिलीप प्रसाद के साथ छोटे पुत्र दीपू प्रसाद की अपेंडिक्स के ऑपरेशन के लिए गुरुवार को गोपालगंज डॉ अरविंद कुमार शर्मा के क्लिनिक पर गयी। गुरुवार की शाम को तीन बजे दीपू के अपेंडिक्स का ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के कुछ ही घंटे बाद लगभग 11 बजे रात में अचानक मरीज पैर-हाथ मारने लगा। परिजनों ने क्लिनिक में उपस्थित कंपाउडर को मरीज की स्थिति की जानकारी दी। काफी देर के बाद कंपाउडर मरीज के पास पहुंच कर स्थिति को देखते हुए इंजेक्शन लगा दिया। उसके बाद सुबह करीब चार बजे मरीज की मौत हो गयी। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर के संकेतो पर कंपाउडर ने अपेंडिक्स का ऑपरेशन किया था, इस वजह मरीज की मौत हो गयी।