कुत्तों के प्रेम में परिवार पहुंचा हाई कोर्ट,बोले-उन्हें हमसे अलग मत करिए

मध्यप्रदेश के रतलाम में अजब प्यार की गजब कहानी सामने आई हैं।रतलाम का यह मामला अनोखा ही नहीं बल्कि जीव प्यार की बड़ी मिसाल हैं।रतलाम के एक परिवार को गली के कुत्तों से इतना लगाव हो गया कि जब कुछ लोगों ने उन कुत्तों को मोहल्ले से हटाने की शिकायत प्रशासन से की,तो परिवार न सिर्फ प्रशासन के खिलाफ खड़ा हो गया,बल्कि प्रशासन के खिलाफ रतलाम न्यायालय से न्याय नहीं मिलने पर इंदौर हाईकोर्ट तक मामला ले गया। हाईकोर्ट में मामला अभी लंबित है,लेकिन अजब प्यार की गजब कहानी जो सामने आई है वह हर किसी को सोचने पर मजबूर कर देगी,कि क्या गली के कुत्तों से इतना लगाव हो सकता है? 
दरअसल,रतलाम के देवरा देवनारायण कॉलोनी निवासी रिटायर्ड ईश्वरलाल गुप्ता और आशा गुप्ता अपने जीवन के इस पड़ाव में जीव प्यार से प्रेरित होकर उनकी सेवा कर रहे हैं।ईश्वरलाल गुप्ता आरपीएफ से रिटायर्ड है वही पत्नी आशा गुप्ता मेडिकल विभाग से रिटायर्ड हैं।दोनो बुजुर्ग दंपत्ति को जानवरों से काफी लगाव है और उनकी खाने पिलाने से लेकर उपचार तक कि सेवा करते हैं।
दोनो दंपत्ति गली के कुत्तों की पीढ़ी दर पीढ़ी 15 वर्ष से देखभाल कर रहे हैं।ना सिर्फ खाना बल्कि उनके उचित इलाज के लिए रतलाम के बावजूद महू तक जाते हैं।इतना ही नहीं गुप्ता परिवार के पास पहले मर चुके कुत्तों की तस्वीरें भी हैं,जिन्हें गुप्ता परिवार ने अपने पास संभाल कर रखा है और इन फोटो को देख परिवार की आंखे भी भर आती हैं,क्योंकि इन कुत्तों से इस परिवार को ऐसा लगाव हो गया कि अब ये इस परिवार के सदस्य बन गए हैं।गुप्ता दंपत्ति ने इन कुत्तों के रहने खाने व इनके लिए साफ सफाई की भी व्यवस्था की हुई हैं।

लेकिन,3 वर्ष पहले 2016 में कुछ लोगों ने इन कुत्तों को लेकर प्रशासन से शिकायत कर दी और इन्हें हटाने की मांग की।तात्कालीन एसडीएम ने नगर निगम से जांच करवाई और एसडीएम ने इन कुत्तों को हटाने का नोटिस गुप्ता परिवार को दे दिया,जिसके बाद ईश्वरलाल और आशा गुप्ता ने रतलाम न्यायालय में कुत्तों को अपने पास रखने की गुहार लगाई,लेकिन रतलाम न्यायलय ने भी गुप्ता परिवार की अपील नामंजूर कर दी।रतलाम के दंपत्ति जीव प्रेमी ने हार नहीं मानी और कुत्तों के लिए गुप्ता परिवार ने अब इंदौर उच्च न्यायालय में गुहार लगाई हैं।
फरियादी जीव प्रेमी आशा गुप्ता ने बताया कि,इस बीच पड़ोसी शिकायतकर्ता ने पिछले आदेश को लेकर एक शिकायत औद्योगिक थाना पुलिस से कर दी,कि एसडीएम और रतलाम न्यायालय के आदेश का पालन करवाकर कुत्तों को मोहल्ले से हटवाया जाए।पुलिस ने आदेश की तामील के लिए गुप्ता परिवार के घर जाने लगी,ऐसे में अब आशा गुप्ता ने रतलाम एसपी को मामले से अवगत करवाकर एक आवेदन दिया है,जिसमें पुलिस को सूचना दी गई कि पिछले आदेश को लेकर वह उच्च न्यायालय में अपील कर चुकी है और अब मामला उच्च न्यायालय में लंबित हैं।