लड़की का दावा- ‘सपने में आते है नाग भगवान, कहते हैं की तुम मेरी हो किसी और की नहीं हो सकती’..!

एक युवती दावा कर रही है कि उसकी विवाह नाग देवता (सांप) के साथ हो गई। वो रोज मेरे सपने आते है औऱ कहते है कि तुम मेरी हो किसी और की नहीं हो सकती। युवती ने भी मान लिया कि स्वामी मैं भी सिर्फ आपकी हूं। बस क्या था उसी रोज से रोजाना युवती अपने माथे में बिंदी और मांग में सिंदूर लगाने लग गई। बिन फेरे हम तेरे जैसे बात हो गई। कुंवारी होने के बावजूद वो शादीशुदा जिंदगी जी रही है। इससे उसके माता पिता हैरान नहीं, जबकि उसका साथ दे रहे हैं। ये पूरा विषय बलरामपुर जिले का है।

loading...
मांग में सिंदूर भरकर खड़ी इस युवती का नाम दुर्गावती है, जिसकी आयु महज 18 वर्ष है। उसके साथ खड़े जो लोग दिख रहे है वो इनके माता-पिता है। सांप से शादी करने के दावे की कारण से ये गांव में सुर्खियों में बनी हुई है। लोग दूर-दूर से देखने भी आ रहे हैं। युवती दावा है कप उसके मस्तक पर सिंदूर नगा देवता ने गलाया है। उसकी नाग देवता से सादी हो चुकी है और अब वो उन्हीं की बनकर रहना चाहती है। ऐसा ही खेल पिछले 7 महीने से चल रहा है।

दुर्गावती का दावा है कि उसकी सपने में नाग देवता आते हैं और कहते हैं कि तुम मेरी हो और किसी की नहीं हो सकती। नाग देवता प्रतिदिन उसके सपने में आते हैं और उससे बातें करते हैं। युवती की मानें तो नाग के द्वारा लगाया उसका सिंदूर पानी से धोने से नहीं धुलेगा और सिर्फ वही इसे धो सकती है।

उसका का कहना है कि नाग ने उसे अपने साथ जाने के लिए कहा, तो वो माता-पिता के अकेले हो जाने के वजह नहीं गई. नाग के आदेश पर ही वो घर के सामने मंदिर का निर्माण करवा रही है। मंदिर बनने के बाद सावन में अगर उसके माता-पिता की इजाजत मिलेगी, तो वो नाग के साथ चली जाएगी।

इस रिश्ता में जब कलेक्टर संजीव कुमार झा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि आपके माध्यम से मुझे इसकी जानकारी लगी है। क्या कुछ पूरा मामला है इसकी जांच के लिए टीम गांव में भेजा जाएगा और सच्चाई पता करवाया जाएगा। जिसके बाद आगे क्या करना है उसकी कार्रवाई की जाएगी।

परेशानी की बात ये है कि इतना सब हो गया और किसी भी अधिकारी या प्रशासन ने वहां जाकर हालात को जानने या समझने की प्रयास नहीं की. जिससे अंधविश्वास का ये खेल चलता जा रहा है। इलाके में अंधविश्वास बढ़ रहा है। दूर दराज से इसे देखने लोगों का तांता लगा हुआ है। अब देखना ये होगी कि क्या ये लड़की ऐसी ही जिंदगी आगे जीती रहेगी या फिर कोई पहल कर इसे आंधविश्वास से निकाला जा सकेगा।