डॉक्टर का कारनामा हड्डी बाएं हाथ की टूटी डॉक्टर साहब ने दाएं पर चढ़ा दिया प्लास्टर..!

डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप माना जाता है। क्योंकि डॉक्टर हमें मौत के मुंह से बचाकर एक नई जीवन जो दे देते हैं। किन्तु बिहार से एक ऐसा विषय सामने आया है जिसे जानकर आप भी यकीन नहीं कर पाओगे क्योंकि बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल दरभंगा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल के एक डॉक्टर ने एक बच्चे के टूटे हुए हाथ की जगह स्वस्थ हाथ पर प्लास्टर कर दिया। जिसके बाद अस्पताल में अफरा तफरी मच गया।
loading...
दरअसल, हनुमान नगर के रहने वाले 7 वर्षीय फैजान आम के पेड़ से गिरने के वजह उनका बाएं हाथ टूट गया था जिस कारण से परिवार वाले उपचार के लिए उसे दरभंगा के डीएमसीएच अस्पताल लेकर गए थे। जहां पर उसे डॉक्टर ने एक्सरे कराने के लिए भेजा। एक्सरे में पता चला कि जोर से गिरने के वजह उनका बाएं हाथ टूट गया है।

इसलिए डॉक्टर ने उसे प्लास्टर कराने के लिए अंदर लेकर गए किन्तु वहां उपस्थित बाकी डॉक्टरों से बातचीत में वह डॉक्टर इस कदर मशरूफ हो गया कि वह बच्चे की बाएं हाथ की जगह दाएं हाथ पर ही प्लास्टर चढ़ा दिया।

आपको जानकर परेशानी होगी प्रिस्क्रिप्शन में बाएं हाथ टूटने के बारे में लिखा है फिर भी प्लास्टर करने वाला डॉक्टर बिना प्रिसक्रिप्शन पढ़े और बिना परिवार वालों की बात सुने ही गलत हाथ पर प्लास्टर कर दिया।

इस बारे में जब स्थानीय लोगों को पता चला तो सब लोग आकर इसकी शिकायत डीएमसीएच के अस्पताल अधीक्षक से की उसके बाद आनन-फानन में अस्पताल प्रशासन ने खुद की गलती मान ली है और दोषी डॉक्टर के विरुद्ध कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है। ये समाचार मीडिया में आने के बाद स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने भी अस्पताल प्रशासन से उत्तर मांगा है।