लखनऊ की सड़कों पर फटा-पुराना कुर्ता पहनकर घूमते रहे बिग बी, कोई भी उन्हें पहचान नहीं सका..!

सिर पर गोल टोपी के ऊपर गमछा, लंबी सफेद  दाढ़ी, फटा पुराना कुर्ता, ओछा पायजामा पहने ठेले की ओंर आता एक बूढ़ा आदमी। भूख लगी है इसलिए वह बूढ़ा भुट्टे के ठेले की ओंर आता है फिर बात नहीं बनती है तो सड़क के दूसरी ओंर जाकर खीरा खरीदता है। खीरा खरीदकर उसको चार कलियों में बांटकर एकाएक से रूमी गेट की ओर बढ़ता चला जाता है। अब आप सोंच रहे होगें कि यह कहानी हम आपको क्यूं बता रहे हैं। दरअसल ये बूढ़ा आदमी कोई साधारण इंसान नहीं जबकि सदी के महानायक अमिताभ बच्चन थे।

loading...
जी हां अमिताभ बच्चन इन दिनों लखनऊ में अपनी फिल्म गुलाबो-सिताबो की शूटिंग कर रहे हैं। यह ‘बिग बी’ की फिल्म का ही एक भाग था। इस फिल्म में बिग बी मिर्जा का किरदार निभा रहे हैं। बाजार की भारी भीड़ भी ‘बिग बी’ को नहीं पहचान पाई और वह काफी देर तक उन्हीं के बीच घूमते रहे। लोगों को तब पता चला कि ये बूढ़ा आदमी और कोई नहीं जबकि अमिताभ बच्चन जी हैं जब डायरेक्टर ने सीन पूरा होने पर कट कहा।

मंद हवा के झोकों के बीच मंगलवार को मिर्जा यानि अमिताभ बच्चन इक्के तांगे की सवारी करके इमामबाडा पहुंचते हैं। इसके बाद अपनी जेब से किराया देते हैं और सड़क पर लगे ठेलों की ओंर चल पड़ते हैं। किन्तु वहां उपस्थित कोई भी व्यक्ति उन्हें पहचान नहीं पाता है। अभी तीन दिन पहले बिग बी अपनी  इसी बुढ़ापे की चाल के साथ शॉपिंग करने के लिए निकल पड़े थे।

फिल्म में बाजार का सीन दिखाने के लिए एक दर्जन तांगे, दर्जन भर बाइक सवार, आधा दर्जन ठेले लगवाए गए थे। इसी चलती फिरती रोड पर जब मिर्जा खीरा खाते हुए जा रहे होते हैं तो उनकी बहुत जगह से जुड़ी चप्पल टूट जाती है और फिर अमिताभ उसे बनवाने के लिए दुकान पर जाते हैं। बता दें कि इस  फिल्म के निर्माता सुजीत सरकार हैं। इस फिल्म के लिए पुराने लखनऊ से लेकर गोमतीनगर तक बहुत सीन फिल्माए जाएंगे। तकरीबन दो महीने की शूटिंग में लखनऊ की खूबसूरती को दिखाया जाएगा।