बुखार से किशोरी की हुई मौत, परिवार में छाया मातम..!

जिले में बरसात के मौसम में संक्रामक रोग फैल चुके हैं, मगर जिला स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन हल्के में ले रहा है। जबकि पांच ब्लाकों के तो प्रत्येक गांव में लोग बीमार हैं और मौत होना शुरू हो गई है। मलेरिया जिले में बरसात के मौसम में संक्रामक रोग फैल चुके हैं, मगर जिला स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन हल्के में ले रहा है।

loading...
जबकि पांच ब्लाकों के तो हर गांव में लोग बीमार हैं और मौत होना शुरू हो गई है। मलेरिया लगातार लोगों को चकड़ता जा रहा है और लोग बुखार के बाद मलेरिया के शिकार हो रहे हैं और जान जा रही हैं। शनिवार को सालारपुर ब्लाक के गांव बर्खिन में एक किशोरी की पिछले तीन दिन से नीर आ रहे बुखार के बाद मौत हो गई।

परिजनों ने बताया कि किशोरी शुक्रवार रात को बुखार की दवा खाकर सोई थी, सुबह शनिवार को उठाया गया, लेकिन वह नहीं उठी तो गांव के ही डाक्टर से दिखाया तो मृत घोषित कर दिया। जिस पर परिजनों में कोहराम मच गया, परिवार का रो-रोककर बुरा हाल है, पिछले चार दिन से किशारी को बुखार आने के बाद मौत होने पर गांव की आंखे जरूर नम हैं मग बुखार की दहशत फैल गई है। इधर गांव में भीषण गंदगी के चलते दर्जनों लोग बीमार हैं और घरों में बुखार की लपटों में तड़प रहे हैं।