लड़के ने लिखा-'सुनीता 4 माह से मेरे साथ कर रही है ये काम, उसकी फ्रेंड ने भी कर दिया बर्बाद...'

राजस्थान के सीकर जिले की हर्ष की पहाड़ियों ने आत्महत्या करने वाले युवक का एक सुसाइड नोट पुलिस को मिला, जिसमें उसे एक लड़की द्वारा टॉर्चर किए जाने समेत कई बातों का उल्लेख है। उसने परिजनों ने जयपुर आईजी से मुलाकात कर निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की है। आईजी एस.सेंगाथिर ने उन्हें मामले की पूरी जांच कर जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करवाने का आश्वासन दिया है।
loading...
महेश पुत्र मदनलाल निवासी ग्राम रामपुरा दूधवा ने बताया कि उसके भाई महीपाल सरकारी नौकरी नहीं लगने से काफी दिनों से तनाव में था। महीपाल से 9.40 लाख रुपए सरकारी नौकरी लगवाने के लिए मुकेश ढाका व रतनलाल ने लिए थे। उन्होंने फर्जी लेटर भी बनाकर दिया था। उन्होंने बताया कि भाई को आत्महत्या करने पर मजबूर होना पड़ा। करीब डेढ़ साल पहले महेश कुमार, कैलाश चंद रामपुरा के सामने 9.40 लाख रुपए में बात की थी। उनमें से दो लाख पचास हजार रुपए एडवांस दिए थे और 6 लाख 90 हजार रुपए लिस्ट में नाम आने के बाद देने थे।

सुसाइड नोट में कुछ ऐसा मिला लिखा हुआ...
पुलिस सूत्रों के अनुसार महीपाल के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। जिसमें उसने लिखा कि अगर मैं गलत होता तो ऐसा कदम नहीं उठाना पड़ता। सुनीता भास्कर और उसकी फ्रेंड ने मिलकर इस कदर बर्बाद कर दिया कि सुसाइड के लिए दबाव बनाकर मेरा जीवन ही खत्म कर दिया। सुनीता पिछले चार महीने से टॉर्चर कर रही थी कि मुझे ऐसा कदम उठाना पड़ा। मुझे माफ कर देना दोस्तों मैं इसका ये बर्ताव सहन नहीं कर पाया। 
क्योंकि इसने पूरी फैमिली को बर्बाद करने को कहा। उसने लिखा कि रतन और मुकेश ढाका के पास मेरे 9 लाख 60 हजार रुपए दिलवाए हुए हैं। वो मेरे घर पर दे देना। सुसाइड नोट में सुनीता भास्कर व उसकी दोस्त का नाम भी आया था। जांच के दौरान उसकी रिकॉर्डिंग भी मिली थी। जिसमें वह बोल रही थी कि आपके परिवार को बर्बाद कर दूंगी। इसी कारण से वह कई दिनों से तनाव में चल रहा था।