सिपाही की पत्नी ने घरवालों से परेशान होकर कर दिया कुछ ऐसा काम, शादी से पहले से थी परेशान

loading...
चेतगंज थाना क्षेत्र के सेनपुरा में रविवार को सुबह सिपाही की पत्नी ने फांसी लगा ली। मायके वालों के आने के बाद पुलिस ने कमरे से लाश निकाली। मौके पर पुलिस द्वारा फॉरेंसिक टीम भी बुला ली गई थी। मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए सिपाही पति के खिलाफ तहरीर दी है। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ ही पुलिस ने आरोपित सिपाही को अपनी हिरासत में ले लिया है। मूलरूप से टांडा निवासी अमित कुमार दशाश्वमेध थाने पर बतौर सिपाही तैनात है। 2018 भर्ती का सिपाही अमित पांच महीने से सेनपुरा स्थित संजय श्रीवास्तव के मकान में रहता है। दो महीने पहले जलालपुर की रहने वाली सृष्टि उर्फ गोल्डी को अपने साथ ले आया। डेढ़ साल पहले दोनों का प्रेम विवाह हुआ था।
रात्रि ड्यूटी से लौटा तो मिली थी जानकारी। रात्रि में ड्यूटी के बाद रविवार को सुबह अमित घर आया। दरवाजा अंदर से बंद था। देर तक खटखटाने पर भी नहीं खुला तो धक्का देकर दरवाजा खोला। सिपाही के होश उड़ गए क्योंकि उसकी पत्नी सामने पंखे के सहारे फंदे से लटक रही थी। पुलिस के साथ ही ससुराल वालों को भी फोन करके सूचना दी। अमित बनाना चाहता था दूरी। सृष्टि की मौसी उर्मिला और चमेला ने बताया कि कोर्ट- कचहरी और पुलिस थाने का चक्कर लगाने के बाद अमित और उसके परिजन सृष्टि से शादी को तैयार हुए। दोनों एक ही कॉलेज में बीएससी से पढ़ाई किए थे। दोनों के बीच चार साल से संबंध था। वह अक्सर सृष्टि से मिलने घर आया करता था। उसने शादी का वादा किया था। 
आरोप लगाया कि एक साल पहले 2018 में यूपी पुलिस कास्टेबल में नियुक्ति के बाद वह सृष्टि से कटने लगा। इसे लेकर कई बार पंचायत हुई। पिता राजेंद्र ने कोर्ट का सहारा लिया। नियुक्ति फंसने के भय से अमित और उसके परिजन सृष्टि से शादी करने को राजी हो गए। बसखारी थाना में पंचायत के बाद दोनों की शादी हुई। आखिरी बार मां से हुई बात। मौसी उर्मिला ने बताया कि घटना से पहले सृष्टि ने सुबह आठ बजे अंतिम बार अपनी मा पुष्पा को फोन किया था। बुलेट और सोने की चेन की डिमाड के लिए रोज- रोज ताना व प्रताड़ना की आपबीती सुनाई। भाई आकाश ने अमित को हर डिमांड पूरी करने का आश्वासन भी दिया था।