पत्नी ने लिखा- मेरे पति मुझसे बहुत प्यार करते हैं लेकिन उसने मुझे...अब मै जा रही हूँ, पढ़ें और क्या लिखा

बलरामपुर जिले के ग्राम कमलपुर निवासी ज्योति राय पति विनोद राय 31 वर्ष ने अपने बेडरूम के कमरे में देर रात रस्सी से फांसी लगा आत्महत्या कर ली। बीमार पति जब सुबह 3 बजे के करीब उठा तो पत्नी को फांसी पर लटका देख उसके होश उड़ गए। उसने तत्काल इसकी सूचना परिजनों एवं मोहल्ले वासियों को दी। सुबह सूचना पर रामानुजगंज पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होंने कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद किया है। पुलिस के अनुसार सुसाइड नोट में उसने अपनी आत्महत्या का जिम्मेदार मिलन मंडल नामक व्यक्ति को बताया है। फिर पुलिस ने पंचनामा व पोस्टमार्टम पश्चात शव परिजनों को सौंप दिया।

सुसाइड नोट में लिखी ये बातें
loading...
ज्योति ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट भी लिखा है। उसने लिखा है कि 'मैं ज्योति, मेरे घरवाले बहुत अच्छे हैं और मेरे पति मुझे बहुत प्यार करते हैं, लेकिन मैं गलत हूं, इसके बाद भी मेरे घरवाले मुझे बहुत प्यार करते हैं। मेरे पति भगवान से बढ़कर हैं लेकिन मैं ही गलत रास्ते पर चली गई। मुझे ले जाने वाला मिलन मंडल है, उसने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी और मैं जान देने पर मजबूर हो गई हूं। मेरी मौत का जिम्मेदार मिलन मंडल है।'
ज्योति का एक 10 व 7 साल के 2 पुत्र हैं। मां की आत्महत्या के बाद बच्चों उनका रो-रोकर बुरा हाल है। ज्योति के आत्महत्या कर लेने से मासूमों के सिर से मां का साया उठ गया। ज्योति राय एवं उसका पति विनोद राय दोनों मलेरिया टाइफाइड से पीडि़त थे। दोनों का इलाज रामानुजगंज अस्पताल में चल रहा था। पति जब सुबह 3 बजे के करीब उठा तो पत्नी का शव फांसी से लटकता मिला, इसके बाद उसने परिजनों एवं मोहल्ले वासियों को इसकी सूचना दी।