'बधाई हो साले साहब, आप मामा बन गए', और फिर गुस्साए भाई ने जीजा और बहन को मार दी गोली

बरेली के थाना क्योलड़िया में धर्म परिवर्तन कर रामकिशोर से प्रेम विवाह करने वाली नरगिस की हत्या का खुलासा पुलिस ने 48 घंटे के अंदर कर दिया है। धर्म परिवर्तन कर शादी से नाराज महिला के भाई ने ही उसे मौत के घाट उतार दिया। शादी से नाराज भाई ने अपनी बहन व बहनोई की हत्या की योजना बना ली। तीन महीने का इंतजार करने के बाद जैसे ही मौका मिला उसने हमला कर दिया। हमले में गोली लगने से मृतिका का पति अस्पताल में भर्ती है जहां उसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
loading...
ग्राम करुआ साहबगंज में रहने वाले रामकिशोर की पड़ोसी नरगिस का कई सालों से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। पिछले साल नरगिस ने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम मोहिनी रखा और रामकिशोर से प्रेम विवाह कर लिया। तब दोनों पक्षों में खूब विवाद हुआ था। लड़की पक्ष के लोगों ने थाने पर धरना दिया, जिसके बाद रामकिशोर समेत नौ लोगों पर अपहरण का मुकदमा दर्ज हुआ। हालांकि बाद में जब नरगिस बालिग साबित हुई तो मुकदमे में एफआर लग गई।
चूंकि गांव में माहौल खराब था इसलिए दोनों रुद्रपुर में जाकर रहने लगे। धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हुई तो वे घर आने लगे। इसी साल तीन फरवरी को नरगिस ने बच्ची को जन्म दिया। रामकिशोर ने खुशी साझा करने के लिए नरगिस के भाई शमशेर को फोन कर किया और कहा कि साले साहब बधाई हो, आप मामा बन गए हैं। जिसपर शमशेर को यह बात खराब लगी और दोनों में जमकर तू तू-मैं मैं हुई थी। उसके कुछ दिन बाद मौका देखकर हत्या कर दी। पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।