जीजा बात करते थे किसी और लड़की से, साले ने देख लिया तो जीजा ने दिनदहाड़े किया ये काम

भरतपुर में सगाई होने के बाद मंगेतर से मोबाइल पर लम्बी बात करना छोटे भाई को पसंद नहीं आया, जिस पर उसने बहन का मोबाइल तोड़ दिया। इससे होने वाले जीजा की बातचीत बंद हो गई। इस घटना से नाराज जीजा अपने 15 वर्षीय साले को बहला कर अपने साथ ले गया और शराब के नशे में उसकी हत्या कर शव कुम्हेर थाना क्षेत्र में पानी से भरे गड्ढे में फेंकना का मामला सामने आया है। प्रकरण की जांच करते हुए बयाना पुलिस ने मामले में आरोपी जीजा को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया।
loading...
बयाना कोतवाली प्रभारी मदनलाल मीणा ने बताया कि गत 18 सितम्बर को लाल दरवाजा शकुंतला जाटव ने उसके पुत्र गौतम (15) का अपहरण करने का मामला होने वाले दामाद राहुल जाटव पुत्र भूप सिंह निवासी गोपाल बाग थाना कोसी जिला मथुरा (यूपी) के खिलाफ कराई थी। इसमें बताया कि उनके परिचित विष्णु पटवा निवासी जैन गली के गौतम खाना खाने गया था। विष्णु के फोन पर होने वाले दामाद राहुल का फोन आया था। तीन बार गौतम से बात हुई थी। उसके बाद गौतम विष्णु से शौच करने की कहकर चला गया था। बाद में मुकेश प्रजापत के फोन से उसने विष्णु को जीजा राहुल के साथ जाने की बात कही। उसके बाद वह नहीं आया। 
पुलिस जांच में मालूम हुआ कि आरोपी राहुल जाटव की सगाई बबीता पुत्री राजू जाटव निवासी लालबस्ती कस्बा बयाना से हुई थी। बबीता व राहुल की सगाई होने से पहले ही दोनों की फोन पर दिन में करीब 10 घण्टे बातचीत होती थी, जिससे घर में कलेश बना हुआ था। बबीता का छोटा भाई गौतम उससे बात करने इनकार और घर का कार्य करने की बात कहता था। बबीता नहीं मानी तो गौतम ने उसका फोन तोड़ दिया। जिससे राहुल की बातचीत होना बन्द हो गया। इससे नाराज होकर राहुल गत 16 सितम्बर को होने वाले साले गौतम को बयाना से अपहरण कर बस में बैठ भरतपुर आ गया। 
यहां उसने शराब के ठेके से एक बीयर की बोतल खरीदी और गौतम को लेकर कोसी जाने वाली बस में सवार हो गया। वह कुम्हेर क्षेत्र में गांव बौरई के बस स्टैण्ड पर रास्ते में उतर गया। करीब 1 किलोमीटर आगे जाकर जगंल में बीयर पी और नशे में साले गौतम को उसकी ही शर्ट से गला घोंटकर हत्या कर दी। उसके बाद गौतम की शर्ट से दोनों हाथ पीछे की तरफ बांधकर उसे पानी में फेंक कर भाग गया। कुम्हेर पुलिस को 18 सितम्बर को नगला गंगा के पास सड़क किनारे पानी के गड्ढे में शव पड़ा मिला था, बाद में उसकी शिनाख्त गौतम के रूप में हुई।

कपड़ों से हुई उसकी पहचान

मृतक गौतम की शिनाख्त उसके कपड़ों से हुई थी। कुम्हेर पुलिस ने कपड़े के फोटो लेकर दूसरे थानों को भेजे थे, जिस पर बयाना पुलिस ने लापता चल रहे गौतम के परिजनों को दिखाए। जिस पर उसके होने वाले जीजा राहुल से पूछताछ की तो हत्या का खुलासा हो गया।