पत्नी के लिए लिखा, "मैं आपके लिए सब कुछ छोड़कर जा रहा हूं, जी लो अपनी जिंदगी", क्या था कारण

'अन्नु आपने मुझे अपने घरवालों के बहकावे में आकर यह बोल दिया कि आपको मेरे साथ नहीं रहना। जबकि मैंने आपके साथ जिंदगी बिताने के लिए दर-दर चुनौतियों को स्वीकार किया। मैं आपके लिए सबकुछ यहीं छोडकऱ जा रहा हूं। जी लो, अपनी जिंदगी। जैसे चाहो और खुश रहो। मेरी अंतिम इच्छा है कि मेरे बेटे इशु को गांव न्यौराणा भिजवा देना प्लीज। मेरी मौत के जिम्मेदार आपके घरवाले है। आई लव यू इशु। घर आ जाना दादी के पास न्यौराणा और बड़ा होकर उनका सहारा बनना। गलती के लिए माफी चाहता हूं। आई लव यूं इशु और अन्नु....' यह दर्दभरा सुसाइड नोट मरते-मरते एक पति अपने पत्नी के नाम लिखकर छोड़ गया।
loading...
दरअसल ये मामला राजस्थान के सीकर जिले का है। बांडियाबास में मीणा समाज के सचिव रमेश मीणा ने अपने ससुराल में फांसी के फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। मरने से पहले रमेश ने पत्नी के नाम एक सुसाइड नोट लिखकर अपने दोस्तों को भेजा। जिसमें उसने ससुराल वालों को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया। पाटन न्यौराणा का रमेश तीन दिन पहले ही अपने ससुराल बांडियावास आया था। गुरुवार को उसकी पत्नी घर के बाहर गई हुई थी। इसी बीच रमेश ने कमरे में फांसी लगा ली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों ने ससुराल वालों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। रमेश के चाचा ने पत्नी अनुराधा व उसके भाई तथा माता-पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया है।

पुलिस ने मोबाइल किया जब्त
पुलिस ने रमेश का मोबाइल फोन जब्त कर लिया है। चांदपोल चौकी प्रभारी हनुमान सिंह ने बताया कि मोबाइल लॉक है, जिसे खुलवाया जाएगा। जिसके बाद कॉल डिटेल और उसके व्हाट्सएप को खंगाला जाएगा। बता दें कि रमेश की शादी 2017 में अनुराधा के साथ हुई थी।