प्लांट में बन रहा था दही, कंटेनर का ढक्कन खोलकर देखा तो अंदर का नजारा देख उड़ गए सबके होश

loading...
बिलासपुर खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने गुरुवार को कोनी में मिल्क चिलिंग प्लांट का औचक निरीक्षण किया। इस जाँच के दौरान उन्हें कई आश्चर्यजनक चीजें मिलीं। जिन उपकरणों को रखा गया था उनमें कीड़े पाए गए। मौके पर काम कर रहे लोग गंदे हाथों से दूध बना रहे थे और चिलिंग प्लांट प्रोसेसिंग प्लांट लगा रहे थे। जांच अधिकारी ने कहा कि वहां गंदगी का आलम था कि पांच मिनट रुकना भी दुश्वार हो गया। इसके बाद, अधिकारियों की नजर प्लांट में बन रहे दही पर पड़ी। जब ढक्कन हटा कर देखा गया तो उसमें कीड़े बिलबिला रहे थे। यह देखते ही अधिकारियों के होश उड़ गए। तीस लीटर से अधिक दही फेंक दिया।
जांच टीम ने मौके पर प्लांट मैनेजर को अनियमितताओं के बारे में कारण बताओ नोटिस दथमा दिया। कोई भी कर्मचारी हाईजीनिक सुरक्षा वाला नहीं है। विदित हो कि छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी दुग्ध संघ का कोनी में चिलिंग प्लांट है। इस संयंत्र से है कि राज्य के प्रसिद्ध ब्रांड देवभोग के उत्पादों का निर्माण किया जाता है। साथ ही इस केंद्र से वितरण भी किया जाता है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी देवेंद्र विंध्यराज और मोहित बेहरा की टीम ने गुरुवार को चिलिंग प्लांट का औचक निरीक्षण किया।
दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र में गंदगी और वहां काम करने वाले कर्मचारियों के हाथ देखकर खाद्य सुरक्षा अधिकारी हैरान रह गए। वहां काम करने वाले किसी भी कर्मचारी ने निर्धारित मानक के तहत सुरक्षा किट नहीं पहनी थी।