8 दिनों से भूखे-प्यासे फंसे हैं पति-पत्नी, मवेशियों के साथ छत पर ले रखी है शरण, जानिए ऐसी क्या वजह

बिहार के मुंगेर में एक दंपति छत पर शरण लिए हुए है.
मुंगेर. बिहार में आई बाढ़ ने चारों तरफ तबाही मचा रखी है. मुंगेर में एक परिवार पिछले आठ दिनों से घर की छत पर फंसा है. मामला मुंगेर के खड़गपुर प्रखंड के तेलियाडीह पंचायत के कृष्णा नगर गांव का है. दरअसल, बरियारपुर- खड़गपुर मुख्य मार्ग के बीच तेलियाडीह पंचायत के कृष्णा नगर गांव में लगभग आठ दिनों से अधिक समय से पानी भरा हुआ है. इस गांव में बाढ़ के पानी को देखते हुए 40 परिवारों ने घर छोड़ दिया और इधर-उधर चले गए, लेकिन एक दंपति पानी घटने का इंतजार करता रहा.

घटने की बजाय बढ़ने लगा पानी
loading...
लगातार हो रही बारिश को देखते हुए दंपति उमाकांत पासवान और उनकी पत्नी गीता को मजबूरन पड़ोसी के पक्का घर में शरण लेना पड़ा है. जब इस गांव में आठ से दस फिट पानी भर गया तो दंपति मजबूरन छत पर अपने मवेशियों के साथ जा पहुंचा. इस घटना की जानकारी जब दंपति ने परदेश में रह रहे अपने बेटे को दी तो उनका बेटा मदद के लिए घर पहुंचा.

बेटे ने लगाई मदद की गुहार
बेटे इंद्रजीत कुमार पासवान ने जब अपने मां-पिता को बचाने के लिए अधिकारियों से गुहार लगाई तो उसके कोई फायदा नहीं मिला. इसके बाद उसने इसकी सूचना मीडिया से बात कर दी. मीडिया द्वारा मामले को दिखाए जाने के बाद जिलाधिकारी ने दंपति का रेस्क्यू कराने का आदेश दिया, जिसके बाद एनडीआरएफ की टीम दंपति को बचाने निकली है. मुंगेर जिले में छह प्रखंड के 18 पंचायत बाढ़ से ग्रसित हैं और इससे हजारों की आबादी प्रभावित हुई है.