मार डाला, फिर बॉडी को ठिकाने लगाया और निकल गया घूमने, जानिए फिर क्या हुआ

हल्द्वानी जिलर में तीन हजार रुपये की उधारी के लिए सुमित की निर्ममता से हत्या करने वाले छत्रपाल के मन में वारदात के बाद न किसी तरह का न अफसोस था न कोई डर। कत्ल करने के बाद उसने सुमित की लाश को ठिकाने लगाया फिर उसी का टेंपो लेकर शहर में कई जगह घूमा लेकिन सीसीटीवी की मदद से पुलिस की पकड़ में आ गया।सुमित हत्याकांड का आरोपी छत्रपाल नशे का इतना आदि हो चुका था कि नशे का खर्च पूरा करने के लिए चोरी की वारदातें करने लगा। घटना वाले दिन भी छत्रपाल ने सुमित के साथ जमकर शराब पीने के बाद उसकी हत्या की और नशे की हालत में ही उसकी लाश को ठिकाने लगाया। इसके बाद भी छत्रपाल के मन में घटना को लेकर कोई अफसोस नहीं हुआ और वह सुमित का टेंपो लेकर शहर में निकल गया।
loading...
टेंपो लेकर छत्रपाल पहले बनभुलपूरा लाइन नंबर आठ और नौ में घूमा और फिर रेलवे स्टेशन के आसपास देर रात तक घूमने के बाद टेंपो के साथ ही घर लौट आया। बनभुलपूरा थाना पुलिस ने जब क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला तो मामला खुला और पुलिस ने क्षेत्र के लोगों की मदद से छत्रपाल की तस्दीक कर उसे दबोच लिया। बृहस्पतिवार को पुलिस ने छत्रपाल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेजा।

चोरी का सामान बेचने जाता था बनभुलपूरा

हल्द्वानी। हत्यारोपी छत्रपाल बाइक, साइकिल और गाड़ियों से बैटरी चुराकर उन्हें बनभुलपूरा में कबाड़ा का काम करने वाले कुछ लोगों को बेचता था। सीसीटीवी में छत्रपाल के दिखने के बाद बनभुलपूरा के ही एक कबाड़ी ने सबसे पहले उसकी पहचान की और पुलिस उस तक पहुंच गई। हत्यारोपी मूल रूप से पीलीभीत यूपी का रहने वाला है और घटनास्थल के पास किसकी अनुमति से रह रहा था इसकी भी पुलिस जांच कर रही है।