घर का भेदी लंका ढाए, बेटा ही निकला आरोपी, खुद की ज्वैलरी शॉप में ही करवा दिया ये काम

विदिशा के सिरोंज में फर्जी इनकम टैक्स अफसर बनकर सुनार को चूना लगाने के मामले में जहां सिरोंज पुलिस ने 48 घंटे में बड़ी सफलता हासिल की, तो वहीं इस घटना में घर का भेदी लंका ढाए कहावत भी चरितार्थ हुई, क्योंकि 4 अक्टूबर को इस घटना को अंजाम देने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि खुद उसी घर का बेटा निकला। जिसने कहानी बनाकर पुलिस की आखों में तो धूल झोकी ही, साथ ही अपने माता पिता के साथ भी विश्वासघात किया। पुलिस के अनुसार हर्ष बाजार में पैसा इनवेस्ट करता था, और फिलहाल घाटे के दौर से गुजर रहा था, लिहाज़ा उसने अपने पिता को ही चूना लगाने की ठानली, और अपनी उधारी की भरपाई के लिए घटना को अंजाम दे डाला।
loading...
दरअसल, 4 अक्टूबर को सिरोंज में सराफा व्यापारी हर्ष कुवेर जैन ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी, कि तीन व्यक्ति उनकी सोना-चांदी की दुकान पर आए और अपने आप को इनकम टैक्स अफसर बताकर लगभग 418 ग्राम सोना ले गए। इस घटना से जहां पूरे सराफा व्यापारियों में नाराजगी थी, तो वहीं पुलिस पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे थे। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने खोजबीन चालू की, यहां तक कि थाना प्रभारी शकुंतला बावनीया के अलावा विदिशा SP विनायक वर्मा को भी इस घटना में हस्तक्षेप करके मौका मुआयना करना पड़ा।
थाना प्रभारी की सूझबूझ के चलते सराफा बाजार के अन्य दुकानों के CCTV कैमरों की जांच की गई, जिसमें पुलिस को फरयादी हर्ष कुवेर जैन 10 बजकर 10 मिनट पर अपनी दुकान में जाते एवं उस बीच किसी अन्य व्यक्ति का दुकान पर जाना पुलिस ने नही पाया, इसके साथ ही 10 बजकर 46 मिनट पर पुलिस ने CCTV कैमरे में फरियादी हर्ष कुवेर जैन को तेजी से बाजार के दूसरे छोर की और जाता पाया जबकि शिकायत में इस बात का उल्लेख न करते हुए सीधे अपने घर सूचना देना बताया गया है, पुलिस ने इसी को अधार बनाते हुए फरियादी और उसके परिजनों से पूछताछ की ओर फिर फरयादी हर्ष कुवेर जैन ने अपना जुर्म कबूल करते हुए उधारी की भरपाई करने के लिए इस घटना को अंजाम देना बताया। पुलिस के अनुसार हर्ष कुवेर बाजार में पैसा इनवेस्ट करता था, और उसे काफी घाटा हो गया था। जिसको लेकर पिछले कई दिनों इनकम टैक्स अफसर संबंधी कहानी तैयार कर रहा था, जिसे 4 अक्टूबर को अंजाम दिया। जिसके बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।