अगर पुराना ड्राइविंग लाइसेंस है आपके पास तो जल्द ही करें ये काम, अब बदल गया है नियम

देश में Motor Vehicle Act 2019 लागू होने के बाद,अक्टूबर से ड्राइविंग लाइसेंस (Driving license) बनवाने का नियम भी बदल गया है। साथ ही गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) भी बदल गया है। यानी अब ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट का फार्मेट एक जैसा होगा।  

नए ड्राइविंग लाइसेंस में शामिल होंगे ये फीचर्स
loading...
नए नियम के अनुसार स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) में QR कोड और माइक्रोचिप लगे होंगे। इससे हर राज्य में ड्राइविंग लाइसेंस, RC का कलर,और छपाई एक जैसी होगी, साथ ही RC और DL में जानकारियां भी एक ही जगह होंगी। क्योंकि पहले फॉर्मेट अलग था और जानकारियां भी अलग-अलग हुआ करती थीं। QR कोड और चिप में पुराना सभी रिकॉर्ड होगा।

QR कोड नहीं आपकी पूरी कुंडली है

DL में लगी माइक्रोचिप और QR कोड में आपकी पूरी जानकारी होगी, और इनकी मदद से केंद्रीय डाटा बेस से ड्राइवर या वाहन के बारे में सारा रिकॉर्ड निकाला जा सकेगा। QR कोड को रीड करने के लिए ट्रैफिक पुलिस को हैंडी ट्रैकिंग डिवाइस भी दिए जाने की योजना है। हर DL के पीछे एक इमरजेंसी नंबर भी लिखा रहेगा, ताकि जरूरत पड़ने पर पुलिस या अन्य कोई व्यक्ति इस नंबर पर संपर्क कर सकेगा।

अब नही होगी परेशानी

पहले DL और RC के लिए हर राज्य अपने अपने हिसाब से फॉर्मेट तैयार कर रहे थे, जिसकी वजह से इन पर दी गई जानकारियां कुछ आगे और कुछ पीछे की तरफ प्रिंट थी। लेकिन अब नए नियम से DL और RC पर जानकारियां एक जैसी एक ही जगह पर होंगी