रात में पेड़ की शाखा नही बल्कि पत्तियों पर बैठे थे कोई बाबा, पूछने पर बोले- मैं बंदरिया...

बहराइच के सुजौली थाना क्षेत्र से लगभग 100 मीटर की दूरी पर एक पुराने पीपल के पेड़ की ऊपरी शाखा पर बैठे थे। उन्हें देखने के लिए भारी भीड़ जमा हो गई। दरअसल, वे पेड़ की टहनी पर नहीं, बल्कि पत्तियों पर एक छड़ी के सहारे बैठे हुए थे। वह सोमवार की रात में पेड़ पर चढ़कर बैठ गए थे।
loading...
सूचना मिलते ही उन्हें देखने के लिए भीड़ जुट गई। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने इलाके में फोर्स तैनात कर दिया। पुलिस द्वारा समझाने पर, वह लगभग 11 बजे पेड़ से नीचे उतरे और बताया कि मेरा नाम बंदरिया बाबा है। मैं हनुमान जी का भक्त हूं।
एसएचओ सुबोध कुमार ने बताया कि साधु का कहना है कि वह बजरंगबली के बहुत बड़े पुजारी है और जब बजरंग बली आदेश देते हैं, तो वह उनका ध्यान लगाने के लिए पेड़ पर चढ़ जाते हैं। वह कुछ समय पहले रामगांव में किसी पेड़ पर चढ़ गए थे। एसओ ने बताया कि बंदरिया बाबा अब नेपाल के रास्ते पशुपतिनाथ चले गए हैं। हालांकि हैरत की बात तो यह है कि वह पेड़ पर टहनियों के सहारे नही बल्कि पत्तियों पर बैठते हैं।