अब अपना अंतिम समय आ गया है तभी हुआ चमत्कार और बच गई सबकी जान, जानें ऐसा कैसे हुआ

ग्वालियर के विकासखंड के ग्राम खतोरा में रहने वाले पूर्व विधायक महेन्द्र यादव की बेटी के सगाई समारोह शामिल होकर लौट रही एक कार मंगलवार की रात झांसी के नजदीक एक पुलिया में जा गिरी। हादसे में कार में सवार दो लोगों में से एक की मौत हो गई, जबकि दूसरे की किसी तरह जान बच गई। जानकारी के अनुसार मंगलवार को ओरछा में कोलारस के पूर्व विधायक महेंद्र सिंह यादव की बिटिया मेघा यादव सगाई समारोह था।
loading...
जिसमें शामिल होने के लिए कई रिश्तेदार और मिलने वालों के साथ चंद्रभान सिंह यादव (मड़वासा वाले) और इंदौर से सेवानिवृत्त हुए सेसईखुर्द के पंचम सिंह यादव,जो वर्तमान में शिवपुरी में निवास करते हैं, दोनों भी पहुंचे थे। कार्यक्रम के बाद रात 10 बजे के बाद पंचम सिंह यादव और चंद्रभान सिंह पंचम यादव कार से शिवपुरी के लिए रवाना हुए। रास्ते में बरसात के कारण जगह-जगह पानी भर गया था।

जिसके चलते कार चलाना भी मुश्किल हो रहा था। झांसी मोड़ से एक किमी पहले बनी पुलिया के गड्ढे में गाड़ी अनबेलेंस होकर नीचे गिर गई। चूंकि पुलिया में बरसात का पानी भरा हुआ था, इसलिए कार के गिरते ही उसमें पानी भरने लगा। जब कार पानी में पूरी तरह डूब चुकी थी, तभी अचानक वहां कुछ लोगों ने आकर पत्थर फेंककर एक कांच तोड़ दिया, जिसमें से चंद्रभान ने अपना मुंह बाहर निकाल लिया। ऐसा करने से चंद्रभान को सांस मिल गई फिर लोगों ने रस्सी फेंककर उन्हें बाहर खींच लिया। 
जबकि कार में पानी भर जाने एवं सांस लेने को जगह न मिलने से पंचम सिंह की सांसे तब तक रुक चुकी थीं। चंद्रभान बताते हैं कि गाड़ी पुलिया से नीचे गिरने के बाद पानी मे डूब रही थी। जब पानी मुंह से ऊपर जाने लगा और कोई आस नहीं दिखी तो हम दोनों इतना कह रहे थे अब अपना अंतिम समय आ गया है। लेकिन मुझे यह अभी भी भरोसा नहीं हो पा रहा है, कि ईश्वर ने मुझे कैसे बचा लिया। साथ ही उन्हें अपने साथी पंचम की मौत का भी गहरा सदमा है, क्योंकि हालात दोनों के एक जैसे ही थे।